जालंधर वैसे तो जालंधर नगर निगम के बिल्डिंग विभाग के अधिकारी किसी ना किसी बात को लेकर चर्चा में रहते हैं आज उसी कड़ी में जालंधर नगर निगम के बिल्डिंग विभाग के अधिकारियों का एक और कारनामा जुड़ गया है जोकि जालंधर के गोपाल नगर स्थित R1 INN होटल से जुड़ा हुआ है

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस होटल के बारे में बात करें तो यह एक रिहायशी मकान में बना हुआ है जिसका किसी प्रकार का नक्शा नगर निगम जालंधर के अधिकारियों द्वारा अभी तक पास नहीं किया गया है। परंतु इस होटल को बनाने वाले वह चलाने वाले मालिक के हौसले इतने बुलंद है कि उसने पंजाब मुंसिपल एक्ट की धज्जियां उड़ाते हुए एक रिहायशी मकान को होटल में तब्दील कर दिया वह भी नगर निगम अधिकारियों के नाक के नीचे।

वहीं अगर नियमों की बात करें तो ना तो इस होटल में फायर सेफ्टी उपकरण लगाए गए हैं नाही फायर सेफ्टी विभाग से एनओसी प्राप्त की गई है। जो इस होटल में पानी व सीवरेज का कनेक्शन जोड़ा गया है वह भी पुराना रिहायशी खाते में ही चल रहा है मतलब यह कि अभी तक इस होटल के मालिक द्वारा कमर्शियल पानी व सीवरेज का कनेक्शन भी नहीं लिया गया जोकि पंजाब वाटर सप्लाई व सीवरेज एक्ट के तहत अपराध है।

इस R1 INN होटल की नगर निगम के अधिकारियों व उच्च अधिकारियों को कई बार शिकायत की जा चुकी है परंतु जालंधर नगर निगम के एरिया इंस्पेक्टर से लेकर नगर निगम कमिश्नर तक ने इस अवैध बने होटल पर आज तक कोई कार्यवाही नहीं की है जिसका नतीजा यह है कि उक्त होटल के मालिक को कहीं ना कहीं जालंधर नगर निगम के अधिकारियों या यूं कहें कि नगर निगम के कमिश्नर साहब का पूरा संरक्षण है जिन के संरक्षण में यह R1 INN होटल सभी नियमों को वह सभी कानूनों को ताक पर रखकर चलाया जा रहा है।

अगले भाग में आपको बताएंगे कि R1 INN इन होटल के कौन-कौन मालिक हैं और किस राजनेता के संरक्षण में यह होटल बना है और इस होटल की एक आम आदमी एक राजनेता व नगर निगम के अधिकारियों में क्या-क्या डील और किस प्रकार की डील हुई है इसका भी करेंगे खुलासा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *